एटीट्यूड शायरी

Attitude Shayari Na Main Gira Na Meri Umeedon Ke Meenar Gire,
Par Kuchh Log Mujhe Giraane Mein Kayi Baar Gire.
न मैं गिरा और न मेरी उम्मीदों के मीनार गिरे
पर कुछ लोग मुझे गिराने में कई बार गिरे

attitude shayari

attitude shayari

Attitude Shayari Main Logon Se Mulakato Ke Lamhe Yaad Rakhta Hoon,
Baatein Bhool Bhi Jaaun Par Lahje Yaad Rakhta Hoon.
मैं लोगों से मुलाकातों के लम्हें याद रखता हूँ
बातें भूल भी जाऊं पर लहजे याद रखता हूँ

attitude status

attitude status

Ehsaan Yeh Raha Tohmat Lagane Walon Ka Mujh Par,
UthhTi Ungliyon Ne Mujhe MashHoor Kar Diya.
एहसान ये रहा तोहमत लगाने वालों का मुझ पर
उठती उँगलियों ने मुझे मशहूर कर दिया

Chhod Di Hai Ab Humne Wo Fankaari Varna,
Tujh Jaise Haseen Toh Hum Kalam Se Bana Dete The.
छोड़ दी है अब हमने वो फनकारी वरना
तुझ जैसे हसीन तो हम कलम से बना देते थे

Attitude Shayari Gumaan Itna Nahi Achha Tu Sunn Le Pehle Jaane Ke,
Paltne Par Mukar Sakta Hun Tujhko JanNe Se Bhi.
गुमां इतना नहीं अच्छा तू सुन ले पहले जाने के
पलटने पर मुकर सकता हूँ तुझको जानने से भी

attitude status in hindi

attitude status in hindi

Mere Lafzon Se Na Kar Mere Kirdar Ka Faisla,
Tera Wajood Mit Jayega Meri Hakiqat Dhhoondte Dhhoondte.
मेरे लफ्जों से न कर मेरे किरदार का फ़ैसला
तेरा वजूद मिट जायेगा मेरी हकीकत ढूंढ़ते ढूंढ़ते

Attitude Shayari Kitna Azeeb Apni Zindagi Ka Sfaar Nikla
Sare Jhaan Ka Dard Apna Mukaddar Nikla
Jiske Naam Apni Zindagi Ka Har Lamha Kar Diya
Afsoos Wo Hmari Chahat Se Bekhabar Nikla

attitude shayari in hindi

attitude shayari in hindi

Attitude Shayari Hmare Houslo Kon Rok Paaega
Agar Koi Dushman Aaaega To aankho See Sirf Sawan Barsaaega

लाख तलवारे बढ़ी आती हों गर्दन की तरफ
सर झुकाना नहीं आता तो झुकाए कैसे 

Humko Mita Sake Yeh Zamane Mein Dam Nahi,
Humse Zamana Khud Hai Zamane Se Hum Nahi.

हमको मिटा सके यह ज़माने में दम नहीं
हमसे ज़माना ख़ुद है ज़माने से हम नहीं

Hindi attitude shayari

Hindi attitude shayari

Attitude Shayari Samandar Baha Dene Ka Jigar Toh Rakhte Hain Lekin,
Humein Aashiqi Ki Numaish Ki Aadat Nahi Hai Dost.
समंदर बहा देने का जिगर तो रखते हैं लेकिन​​
हमें आशिकी की नुमाइश की आदत नहीं है दोस्त

Mere Baare Mein Apni Soch Ko Thhoda Badal Ke Dekh,
Mujhse Bhi Bure Hain Log Tu Ghar Se Nikal Ke Dekh.
​मेरे बारे में अपनी सोच को थोड़ा बदल के देख​
​मुझसे भी बुरे हैं लोग तू घर से निकल के देख​