लव शायरी

Love Shayari जो प्यार करतें है वो बड़े अजीब होतें हैं
उन्हें खुशी के बदले गम नसीब होते है
न करना तू प्यार कभी किसी से
क्योंकि प्यार करने वाले बड़े बदनसीब होतें है

Love Shayari

Love Shayari

मेरी हर नज़र में बसी है तू
मेरी हर क़लाम पे लिखी है तू
तुझे सोच लूँ तो ग़ज़ल मेरी
न लिख सकूँ तो वो ख्याल है तू

Love Shayari जब कोई दिल तोड़ कर चला जाता है
तब दरिया का पानी आँखों मे उतर जाता है
कोई बना लेता है रेत पर आशियाना
कोई लहरों में बिखर जाता हैं

Shayari On Love

Shayari On Love

तेरी मोहब्बत में इस जहां को भूल गए
हम औरों को अपनाना भूल गए
सारे जहां को बताया तुझ से मोहब्बत है
सिर्फ तुझे ही बताना भूल गए

Love Shayari आज फिर गुमनाम चेहरों में तू नज़र आया है
आज फिर तेरी यादों ने मुझे रुलाया है
तेरी मोहब्बत ने मुझे चकना चूर किया है
क्यों आज फिर तूने वेबफा का इल्ज़ाम लगाया है

आज फिर तन्हाईयो ने तुझे पुकारा है
ये तो मेरा दिल बेचारा है
तू इस दिल से दूर हो गया है
आज फिर इस दिल को यक़ीन नही आया है

Shayari Love

Shayari Love

तू मुझे क्यों इतना याद आता है
तू मुझे क्यों इतना तड़पाता है
माना के ज़िन्दगी है सिर्फ तेरे लिए
फिर मुझे तू क्यों इतना रुलाता है

Love Shayari जो एक नज़र देखोगे देखते रहे जाओगे
हम जैसा प्यार करने वाला कहां पाओगे
जान देने की बात तो सभी करतें है
लेकिन बात बनाने वाला कहां पाओगे

कभी किसी को पाने के लिए दिल से मत सोचना
रात की तन्हाईयो में अपने दिल को मत कचोटना
यादें तो बहुत आएंगी उस वेबफा की
लेकिन बस एक ज़िन्दगी में ही इन्हें समेटना

Beautiful Hindi Love Shayari

Beautiful Hindi Love Shayari

इश्क में हमने तो दर्द से हाथ मिला लिया
हर गम को आंखों में छुपा लिया
उसने तो बस हमसे रोशनी की ख्वाहिश की
इसलिए हमने तो अपने दिल को जला लिया

Love Shayari चाहत वो नहीं जो जान देती है
चाहत वो नहीं जो मुस्कान देती है
ऐ दोस्त चहत तो वो है
जो पानी में गिरा आंसू पहचान लेती हैं

तुम बिन ज़िंदगी सूनी सी लगती है
हर पल अधूरी सी लगती है
अब तो इन साँसों को अपनी साँसों से जोड़े
वरना ज़िंदगी कुछ पल की मेहमान लगती है

Hindi Love Shayari

Hindi Love Shayari

मोहब्बत की जंजीर से डर लगता है
कुछ अपनी तकदीर से डर लगता है
जो मुझे तुझ से जुदा करती है
मुझे हाथ की उस लकीर से डर लगता है

Love Shayari मेरी क्या ख़ता है तू मुझे सजा देदे
क्यों तेरे अंदर इतना दर्द है इसकी तू वजह देदे
कुछ देर हो गयी तुझे याद करने में मुझसे
लेकिन मुझे छोड़ कर न जाने का इशारा देदे

आज फिर दिल से मेरे सदा आयी है
आज फिर दिल को तेरी बफा याद आयी है
हम तो बहा चुके अश्कों के समुंदर तेरे इश्क़ में
तो क्यों आज फिर चाहत ने ली अंगड़ाई है