Miss You Shayari Yaad Shayari Missing Shayari

वो आज भी क़ायम है अपने इरादों पर
मेरी याद भी आ जाए तो उफ़्फ़ तक नहीं करतीं
Wo Aaj Bhi Kayam Hai Apne Erado Par
Meri Yaad Bhi Aaae To Uf Tak Nhi Karti

Miss You Shayari

Miss You Shayari

कोशिशे हजार की उसको भुलाने की
वजह कोई नहीं उसके याद आने की
Koshish Hzaar Ki Usko Bhulane Ki
Wjah Koi Nhi Usko Yaad Karne Ki

Miss You Shayari

रह रह के मुझे इतना रुलाते क्यूँ हो
याद कर नही सकते तो याद आते क्यूँ हो
Rah Rah Ke Itna Rulate Kyu Ho
Yaad Kar Nhi Sakte To Yaad Aate Kyu Hoo

Yaad Shayari

Yaad Shayari

उसने इतनी दूरियाँ तो मुझसे कर हीं ली हैं
के अब परेशान होता हूँ तो उसकी याद नही आती
Usne Itni Duriyan To Mujhse Kar Hi Li Hai
Ke Ab Preshan Hota Hoon To Uski Yaad Nhi Aati

Yaad Shayari Missing Shayari

सहारा मुकद्दर का तब याद आया
जब तूने खुद से जुदा कर दिया
Shara Mukaddar Ka Tab Yaad Aaya
Jab Tune Khud Se Zuda Kar Diya

वही उदासी फिर तेरी याद ले आयी है
मैं जिस से भाग रहा हूँ मेरी परछाई है
Whi Udasi Fir Teri Yaad Le Aaye Hai
Mai JisSe Bhag Rha Hoon Meri Parchai Hai

Missing Shayari

Missing Shayari

यादें जहन् में आज भी हैं
वो किस्मत में आज भी नहीं
Yaden Zhan Me Aaz Bhi Hai
WO Kishmat Me Aaj Bhi Nhi

missing shayari miss you shayari

वो बस तेरी यादें ही है
जो मुझे रुला कर हंसाती है
Wo Bas Teri Yaaden Hi Hai
Jo Mujhe Rula Kar Hsanti Hai

यादें कमजोर सी दिखती हैं पर होती नहीं है
ये आँखे रात भर रोती है सोती नही है
जो रूठ गए उन अपनों को मना लो
दूरिया रिश्तो में अच्छी होती नही है

Shayari On Yaad

Shayari On Yaad

Kuchh Kar Ab Mera Bhi Ilaaj Ai Hakeem-e-Mohabbat
Har Raat Woh Yaad Aata Hai Aur Mujhse Soya Nahi Jata
कुछ कर अब मेरा भी इलाज ऐ हकीम-ए-मुहब्बत
हर रात वो याद आता है और मुझसे सोया नहीं जाता

miss u shayari teri yaad shayari

आज फिर वही यादों का चित्रहार चला
कुछ पल तो रुका वो फिर उस पार चला
मैं रह गया इस पार बेक़रार कुछ उम्मीद लियें
वो कुछ और की उम्मीद में बेक़रार चला

ये माना की हम तेरी यादों के सहारे है
पर तू ये ना समझ लेना की हम तेरे इन्तजार में है
Ye Mana Ki Hum Teri Yado Ke Share Hai
Par Too Ye Naa Smajh Lena Ki Hum Tere Intzaar Me Hai

Teri Yaad Shayari

Teri Yaad Shayari

पथ्थर जो मिले राहो में तो चुपके से उठा लेता हूँ
कोई ठोकर ना लगे उनको बस येही दुआ देता हूँ
कहते मिलते हैं लोग यहाँ मैं तनहा तनहा रहता हूँ
वो क्या जाने जब होता हूँ तो यादों को बुला लेता हूँ

yaad shayari shayari on yaad

चलो अब ख़त्म करते है यादों का सिलसिला
वो वक़्त और था जब तुम अपने से लगते थे
Chalo Ab Khatm Karte Hai Yadon Ka Silsila
Wo Waqt Aur Tha Jab Tum Apne Se Lagte The 

रिश्ता कई जन्मों का था, वो एक जनम भी ना निभा सके
कह के गए अब याद ना करना, हम एक पल भी ना भुला सके
Rishata Kye Janmo Ka Tha Wo Ek Janm Bhi Naa Nibha Ske
Kahke Gae Aab Yaad Mat Karna Hum Ek Pal Bhi Naa Bhula Ske